[लता मंगेशकर] Lata Mangeshkar Biography in Hindi: आयु ,परिवार, नेटवर्थ, जीवन परिचय

[लता मंगेशकर] Lata Mangeshkar Biography in Hindi: आयु ,परिवार || लता मंगेशकर बायोग्राफी  || लता मंगेशकर अवार्ड्स || लता मंगेशकर जीवन परिचय | Lata Mangeshkar Age, Awards, Family, Husband, Health, लता मंगेशकर नेटवर्थ, etc details are available on this web page. दोस्तों, आज हम आपको भारत के प्रतिष्ठित पार्श्वगायिका लता मंगेशकर जी के बारें में बतायेंगे। आज हम लता मंगेशकर के प्रारंभिक जीवन, पुरस्कार (Awards), और संगीत की दुनिया में जो उपलब्धियां प्राप्त की है। हम उनके बारें में विस्तार से बतायेंगे। इसके लिए आपको यह लेख अंत तक पढ़ना होंगा।

Contents show

Lata Mangeshkar Biography in Hindi (लता मंगेशकर बायोग्राफी)

दोस्तों लता मंगेशकर जी हमारे देश का अनमोल रत्न है। इनको सुरों की रानी कहना गलत नहीं होगा। लता जी को भारत देश में नहीं बल्कि विदेशों में भी इनके मधुर गानों के कारण जाना जाता है। इनका नाम गिनीज बुक ऑफ़ वर्ल्ड रिकॉर्ड में भी दर्ज है। आओ अब लता मंगेशकर जी की जीवनी के बारे में अच्छे से जाने।

नहीं रही सुरों की सरताज और भारत रत्न से सम्मानित लता मंगेशकर। जी हाँ दोस्तों 92 साल की उम्र में लता जी का निधन हो गया है। देश और दुनिया से लोग लता जी को श्र्द्धांजलि दे रहे है। उनका निधन 06 फरवरी 2022 (रविवार) को सुबह के समय हुआ। उनको 08 जनवरी 2022 को मुंबई के ब्रीच कैंडी अस्पताल में भर्ती करवाया गया था। परन्तु बढ़ती उम्र और अन्य बीमारियों के चलते उनका निधन हो गया है। स्वर कोकिला कहीं जाने वाली लता जी के निधन पर आज पूरे देश में राष्ट्रीय शोक घोषित क्या गया है।

लता मंगेशकर: प्रारम्भिक जीवन, जन्म, परिवार

Early Life of Lata Mangeshkar: लता मंगेशकर का जन्म 28 सितम्बर 1929 को मध्य प्रदेश के इंदौर में हुआ था। इनके पिता का नाम श्री दीनानाथ मंगेशकर है जो कि एक मराठी संगीतकार, शास्त्रीय गायक, और थिएटर एक्टर थे। इनकी माता का नाम शेवन्ती देवी था। जो कि मूल रूप से गुजराती थी। शेवन्ती देवी दीनानाथ मंगेशकर की दूसरी पत्नी थी। इनकी पहली पत्नी का नाम नर्मदा देवी थी जिनकी मृत्यु के बाद इनकी शादी नर्मदा देवी की छोटी बहन सेवंती देवी से हुआ। लता मंगेशकर के अलावा इनके तीन बहनें और एक भाई है। जिनका नाम मीना खडीकर, आशा भोसले और उषा मंगेशकर है और भाई का नाम हृदय नाथ मंगेशकर है। लता मंगेशकर अपने पिता की सबसे बड़ी संतान थी।

Lata Mangeshkar Biography in Hindi
Lata Mangeshkar Biography in Hindi

पंडित दीनानाथ का सरनेम हार्डीकर था। जिसे बदलकर उन्होनें अपना सरनेम मंगेशकर रख लिया था क्योंकि पंडित दीनानाथ जी गोवा में मंगेशी के रहने वाले थे जिस कारण उन्होनें अपना सरनेम बदल लिया था। लता जी के जन्म के समय इनका नाम हेमा था लेकिन पंडित दीनानाथ जी ने अपने नाटक “भावबंधन“ में एक महिला किरदार जिसका नाम लतिका था उस नाम के कारण हेमा का नाम लता रखा।

गायिका करियर की शुरुआत

सन् 1942 में अचानक से पंडित दीनानाथ की मृत्यु हो गयी थी तब लता मंगेशकर की उम्र मात्र 13 वर्ष की थी और उनके ऊपर अपने परिवार की जिम्मेदारी आ गयी थी। जिम्मेदारी होने के कारण लता जी को अपने कैरियर की तलाश थी जिससे वह अपने घर की जिम्मेदारियों को पूरा कर सकें। जिसके लिए लता जी ने कुछ हिन्दी व मराठी फिल्मों में काम किया। लेकिन उन्हें अभिनय करना बिल्कुल पसंद नहीं था।

अभिनेत्री के रूप में लता जी की पहली फिल्म “पाहिली मंगलागौर“ रही जिसमें इन्होनें स्नेहप्रभा प्रधान के छोटी बहन के रूप में किरदार निभाया। इसके अलावा लता जी ने माझे बाल, चिमुकला संसार, गजभाऊ, बड़ी माँ माँद और छत्रपति शिवजी जैसी कई फिल्मों में काम किया। लेकिन सन् 1948 में जब लता जी ने संगीत में कदम रखा तो उस समय नूरजहां, अमीरबाई कर्नाटकी और शमशाद बेगम जैसी गायिकाओं ने अपनी अमिट छाप छोड़ रखी थी। जिसके कारण लता जी को संगीत के क्षेत्र में अपनी पहचान बनाना बहुत ही ज्यादा मुश्किल था। लता जी ने अपना पहला गाना एक मराठी फिल्म के लिए गाया जो रिलीज नहीं हो पाई।

Lata Mangeshkar Education in Hindi (शिक्षा)

वैसे तो लता मंगेशकर जी को छह विश्वविद्यालयों के डॉक्टरेट की डिग्री प्रदान कर रखी है। लेकिन लता मंगेशकर जी ने ज्यादा पढ़ाई नहीं कर रखी। वो केवल कुछ महीने ही स्कूल गयी थी। पहली क्लास में हैडमास्टर से नाराज हुई और उसके बाद इन्होंने कभी स्कूल की तरफ मुँह उठा कर भी देखा। इससे अधिक इनकी शिक्षा के बारे में जानकारी कहीं और नहीं मिलती।

Summary of Lata Mangeshkar Biography in Hindi

लता मंगेशकर जीवन परिचय

वास्तविक नाम (Real Name) लता मंगेशकर
बचपन का नाम हेमा
उपनाम (Nick Name) बॉलीवुड की नाइटिंगेल
व्यवसाय भारतीय पार्श्व गायिका

लता मंगेशकर व्यक्तिगत जीवन

जन्मतिथि (Date of Birth) 28 सितंबर 1929
आयु 92 वर्ष
मृत्यु
06 फरवरी 2022 (रविवार)
जन्मस्थान (Birth Place) इंदौर राज्य, मध्य भारत, ब्रिटिश भारत
राशि तुला
राष्ट्रीयता भारतीय
गृहनगर मुंबई, भारत
शैक्षिक योग्यता ज्ञात नहीं

लता मंगेशकर शारीरिक संरचना

लम्बाई (लगभग) से० मी०- 155
मी०- 1.55
फीट इन्च- 5′ 1”
वजन/भार (Weight) 65 कि० ग्रा० (लगभग)
बालों का रंग सफेद और काला
आँखों का रंग काला

संगीतकार के रूप में करियर

डेब्यू पार्श्व गायिका (फिल्म)– ‘माता, एक सपूत की दुनिया बदल दे तू’ (‘गजाभाऊ मराठी, 1943)
संगीत शिक्षक
  • दीनानाथ मंगेशकर (पिता)
  • उस्ताद अमानत अली खान
  • गुलाम हैदर
  • अमानत खान देवस्वाले
  • पंडित तुलसीदास शर्मा
परिवार (Family Info)
  • पिता – दीनानाथ मंगेशकर
  • माता – शेवंती मंगेशकर
  • भाई – हृदयनाथ मंगेशकर
  • बहन– उषा मंगेशकर, आशा भोसले, मीना खडीकर
धर्म (Religious) हिन्दू
जातीयता महाराष्ट्रीयन
शौक/अभिरुचि क्रिकेट देखना, साइकिल चलाना

लता मंगेशकर: प्रेम संबन्ध एवं अन्य जानकारियां

वैवाहिक स्थिति अविवाहित
बॉयफ्रैंड्स एवं अन्य मामले भुपेन हजारिका (गीतकार)
पति लागू नहीं
बच्चे कोई नहीं

लता मंगेशकर नेटवर्थ : धन/संपत्ति

कार संग्रह मर्सिडीज बेंज, शेवरले, ब्यूक और एक क्रिसलर गाड़ी
नेटवर्थ (लगभग 2022) 50 मिलियन डॉलर या INR 368 करोड़ रुपये

लता मंगेशकर की पसंदीदा चीजें

पसंदीदा भोजन ‎मसालेदार भोजन
पसंदीदा राजनीतिज्ञ अटल बिहारी वाजपेयी
पसंदीदा अभिनेता दिलीप कुमार, अमिताभ बच्चन, देव आनंद
पसंदीदा अभिनेत्री नरगिस, मीना कुमारी
पसंदीदा फिल्में किस्मत (1943), जेम्स बॉण्ड की फिल्में
पसंदीदा संगीत निर्देशक गुलाम हैदर, मदन मोहन, लक्ष्मीकांत प्यारेलाल, ए आर रहमान
पसंदीदा स्थान लॉस एंजेलिस
पसंदीदा पेय-पदार्थ कोका-कोला
पसंदीदा खेल क्रिकेट
पसंदीदा क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर

Lata Mangeshkar Biography in Hindi Details are available on this web page. Read this article completely for detailed information of Lata Mangeshkar Biography in Hindi.

पार्श्वगायिका के रूप में लता मंगेशकर की पहचान

पार्श्वगायिका के रूप में लता जी को पहचान दिलाने वाले इनके गुरू उस्ताद गुलाम हैदर थे। गुलाम हैदर जी ने इनको संगीत के क्षेत्र में एक अलग ही पहचान दिलाई क्योंकि लोगों का यह मानना था कि लता जी की आवाज बहुत पतली है और यह पार्श्वगायिका बनने के लायक नहीं है तब लता जी के गुरू गुलाम हैदर ने यह बात साबित करने का बीड़ा उठाया कि भविष्य में लता जी एक सफल और प्रसिद्ध पार्श्वगायिका बनेंगी और यह बात सिद्ध हो गयी।

उस्ताद गुलाम हैदर ने कई निर्माता-निर्देशको से लता जी की मुलाकात करवाई लेकिन इसके बावजूद सफलता उनके हाथ नहीं लग पाई। तभी 1948 में गुलाम हैदर साहब ने एक फिल्म “मजबूर“ में एक गाना गवाया जो कि “दिल मेरा तोड़ा“ था। यह गाना लता जी की जिन्दगी का पहला हिट गाना था और इस प्रकार गुलाम हैदर साहब जी लता जी के गॉड फादर माने गये। इसके बाद 1949 फिल्म “महल“ में एक गाना “आयेगा आने वाला“ गाया जो कि सुपर डुपर हिट हुआ। इस गाने के बाद लता जी ने पीछे मुड़कर कभी नहीं देखा। यह गाना आज भी लोगों की जुबान पर सुना जाता है।

You May Also Likes:

‘भारत रत्‍न’ अटल बिहारी वाजपेयी जीवनी, उपलब्धियां, जीवन परिचय, Quotes

मोहित रैना बायोग्राफी: वाइफ, हाइट, आयु, परिवार, नेटवर्थ

योगी आदित्यनाथ बायोग्राफी: जीवन परिचय, उम्र, पत्नी का नाम, शिक्षा, राजनीतिक जीवन

अखिलेश यादव बायोग्राफी: पत्नी, परिवार, नेटवर्थ, आयु, जीवन परिचय

लता मंगेशकर का स्वर्णिम युग

वैसे तो अगर कहा जायें तो लता जी ने हमेशा सदाबहार गाने गाए जिसको लोग आज भी सुनकर मनमोहित हो जाते है। लता जी ने अपना पूरा जीवन गीत-संगीत को समर्पित कर दिया। उन्होनें लगभग 20 भाषाओं में 30,000 गानों को अपने सुरों से नवाजा जिसके लोग आज भी कायल है। लता जी की आवाज में वो ख़लिश है जो कभी बचपन की यादें, तो कभी आखों में आंसू और कभी सीमा पर खड़े जवानों में जोश भरने के लिए काफी है। लता जी को फिल्मों में पार्श्वगायिका के रूप में कभी भी नहीं भुलाया जा सकता है। अब हम आपको विभिन्न दशकों जिसमें लता जी के गायिकी का अहम योगदान रहा है उनके बारें में बतायेंगे।

पचास का दशक: पचास के दशक में लता जी महान संगीतकारों के साथ काम किया जिसमें अनिल बिस्वास, एस डी बर्मन, जय किशन, मदनमोहन और नौशाद अली शामिल थे। लता जी ने नौशाद अली के लिए बैजू बावरा, कोहिनूर और मुगल-ए-आजम फिल्मों में बेहतरीन और सदाबहार गानें गायें। इसके अलावा लता जी ने एस डी बर्मन के लिए फिल्म साजा, देवदास और हाउस न0 420 के लिए गाना गाया। लता जी एस डी बर्मन की पसंदीदा पार्श्वगायिका थी। शंकर-जयकिशन के लिए लता जी ने फिल्म आह, श्री 420 और चोरी-चोरी के लिए बेहतरीन गानें गायें। यह सारी फिल्में पचास के दशक में प्रदर्शित हुई थी।

साठ का दशक: साठ के दशक में लता जी ने कई सदाबहार गीत गायें जो इस प्रकार है। सुनो सजना पपीहे ने, न जाने तुम कहाँ थे, महबूब मेरे महबूब मेरे, हमने देखी है इन आँखों की, वो शाम कुछ अजीब थी, आया सावन झूमके जैसे गानें गायें। किशोर दा के साथ लता जी ने एक सुपरहिट गाना गाया था जो आज भी लोंगों को आकर्षित करता है वह गाना है होठों पे ऐसी बात और इसके अलावा आज फिर जीने की तमन्ना है, गाता रहे मेरा दिल आदि गानें किशोर दा के ही थे जिसको लता जी ने अपनी सुरीली आवाज में गाकर अमर कर दिया।

सत्तर एवं अस्सी का दशक: सत्तर और अस्सी के दशक में जो गाने गायें वह है। गुम है किसी के प्यार में (रामपुर का लक्ष्मण), वादा करो नहीं छोड़ोगे तुम मेरा साथ (आ गले लग जा), वादा कर ले साजना (हाथ की सफाई), नहीं नही अभी नहीं (जवानी दीवानी), तेरे बिना जिंदगी से कोई शिकवा तो नहीं (आँधी), मै जट यमला पगला दीवाना (प्रतिज्ञा), जाते हो जाने जाना (परवरिश), आज फिर तुम पे प्यार आया (दयावान), तुमसे मिलकर ना जाने क्यों (प्यार झुकता नहीं), जब हम जवां होगें (बेताब) जैसी फिल्मों में गाना गाया जिसके लिए उन्हें कई पुरस्कार भी मिलें। इन दशकों में लता जी ने लक्ष्मीकांत प्यारेलाल, मदनमोहन, सलील चौधरी और हेमन्त कुमार जैसे महान संगीतकारों के साथ काम किया।

नब्बे व अब तक का सफरः इन दशकों में लता जी ने कई संगीतकारों के साथ काम किया। अस्सी के दशक में शिवहरि, अनु मलिक, आनंद मिलिंद, जैसे संगीतकारों ने भी लता जी के साथ काम करना पसंद किया। लता जी ने फिल्म वीर जारा (2004) में गाने के बाद गाने से संयास ले लिया। लता जी ने मधुबाला से माधुरी दीक्षित जैसी अभिनेत्रियों को अपनी आवाज दी।

लता मंगेशकर शादी क्यों नहीं की?

लता जी ने अपनी जिन्दगी में कभी भी शादी नहीं की क्योंकि छोटी सी उम्र में जिम्मेदारियां आने के कारण दुनियादारी में इतनी उलझ गयी कि उन्होनें कभी शादी के बारें में नहीं सोचा। संगीतकार सी0 रामचंद्र जी ने लता जी को शादी का प्रस्ताव दिया था परन्तु लता जी ने इस प्रस्ताव को ठुकरा दिया था।

Also Read: [Miss Universe] हरनाज कौर संधू बायोग्राफी, जीवन परिचय, Awards, Biography in Hindi

लता मंगेशकर अवार्ड्स (पुरस्कार)

लता जी ने अपनी जिन्दगी में कई सारे पुरस्कारों को जीता और साथ ही कई सम्मान भी प्राप्त हुए। 1970 के फिल्मफेअर अवार्ड शो में लता जी ने यह कह दिया था कि वह सर्वश्रेश्ठ गायिका का पुरस्कार नहीं लेंगी। मेरी जगह नये गायकों को यह पुरस्कार दिया जाना चाहिए। आओ अब जाने लता जी कब और कौन-कौन से पुरस्कार और सम्मान मिलें। सबसे पहले हम भारत सरकार द्वारा दिए गए अवार्ड्स के बारे में जानेंगे।

भारत सरकार पुरस्कार

  • वर्ष 1969 में, भारत सरकार ने पद्म भूषण से सम्मानित किया।
  • वर्ष 1989 में, दूसरी बार भारत सरकार ने दादा साहब फाल्के पुरस्कार से सम्मानित किया।
  • वर्ष 1999 में, लता जी को पद्म विभूषण से सम्मानित।
  • वर्ष 2001 में, भारत रत्न से सम्मानित (भारत देश का सर्वश्रेष्ठ सम्मान)।
  • वर्ष 2008 में, भारत की आजादी के 60वीं वर्षगांठ की स्मृति के रूप में “लाइफटाइम अचीवमेंट अवार्ड” से लता जी को सम्मानित किया गया।

राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार

  • वर्ष 1972 में, फ़िल्म परिचय के गाने के लिए सर्वश्रेष्ठ महिला पार्श्व गायिका अवार्ड।
  • वर्ष 1974 में, फ़िल्म “कोरा कागाज़” में गाने के लिए सर्वश्रेष्ठ महिला पार्श्व गायिका अवार्ड।
  • वर्ष 1990 में, फ़िल्म लेकिन के गाने के लिए सर्वश्रेष्ठ महिला पार्श्व गायिका पुरस्कार मिला।

फिल्मफेयर पुरस्कार

  • वर्ष 1959 में, सर्वश्रेष्ठ महिला पार्श्व गायिका अवार्ड- गीत “आजा रे परदेसी” (मधुमती) के लिए।
  • वर्ष 1963 में, सर्वश्रेष्ठ महिला पार्श्व गायिका पुरस्कार, यह अवार्ड गीत “कहीं दीप जले कहीं दिल” (बीस साल बाद) के लिए मिला था।
  • वर्ष 1966 में, सर्वश्रेष्ठ महिला पार्श्व गायिका गीत “तुम्हीं मेरे मंदिर, तुम्हीं मेरी पूजा” (ख़ानदान) के लिए।
  • वर्ष 1970 में, सर्वश्रेष्ठ महिला पार्श्व गायिका गीत “आप मुझे अच्छे लगने लगे” (जीने की राह) के लिए।
  • वर्ष 1994 में, फिल्मफेयर लाइफटाइम अचीवमेंट अवार्ड से सम्मानित किया गया।
  • वर्ष 1995 में, फिल्मफेयर विशेष पुरस्कार गीत “दीदी तेरा देवर दिवाना” (फिल्म: हम आपके हैं कौन) के लिए सम्मानित किया गया।

महाराष्ट्र राज्य फिल्म पुरस्कार

  • वर्ष 1966 में, सर्वश्रेष्ठ पार्श्व गायिका अवार्ड, फिल्म “साधी माणसं” के लिए दिया गया।
  • वर्ष 1977 में, सर्वश्रेष्ठ पार्श्व गायिका पुरस्कार, फिल्म “जैत रे जैत” के लिए मिला।
  • वर्ष 1997 में, महाराष्ट्र भूषण पुरस्कार से सम्मानित।
  • वर्ष 2001 में, महाराष्ट्र रत्न (प्रथम प्राप्तकर्ता) से सम्मानित किया गया।

इसके अलावा भी लता जी झोली में कई पुरस्कार आयें।

[यहाँ क्लिक करें: हमसे टेलीग्राम पर जुड़े और पाए ताजा जानकारी]

लता मंगेशकर द्वारा गाया देश भक्ति और प्रेम से जुड़े गाने का किस्सा

लता जी ने हमेशा अपनी शर्तों पर ही गीतों को गाया। उनका मानना था कि रिकार्डिंग की पेमेण्ट के बाद भी जब तक वह रिकार्ड बिक रहा है। उसकी कमाई का एक छोटा सा हिस्सा गायक को भी आना चाहिए। जबकि हर प्रोड्यूसर इसके खिलाफ थे। जिस समय देश का मनोबल नीचे था तब देश को एक ऐसे ही जज्बे की तलाश थी जो कश्मीर से कन्याकुमारी और कच्छ से रण को एक कर सके और साथ ही आसमान में तिरंगे को लहराता देख कर गर्व महसूस कर सके। ऐसे में राष्ट्र कवि प्रदीप जी ने ये शब्द “ऐ मेरे वतन के लोगों, जरा आँख में भर लो पानी, जो शहीद हुए है उनकी, जरा याद करो कुर्बानी” इन शब्दों को लता जी ने अपनी आवाज दी थी जिससे यह गाना सदा सदा के लिए अमर हो गया। इस गीत को लता ने पहली बार 27 जनवरी, 1963 को दिल्ली के नेशनल स्टेडियम में गाया था।

Lata Mangeshkar Biography in Hindi: इस प्रकार आज लता मंगेशकर बायोग्राफी और जीवनी, जीवन परिचय की जानकारी दी। आशा करते है आपको लता मंगेशकर जीवनी पंसद आयेंगी। इस जीवनी से संबंधित अगर कोई और जानकारी चाहते है तो आप नीचे कमेंट बाक्स में लिखकर पूछ सकते है। हम आपको सतुंटजनक उत्तर देंगे। इस जीवनी को जानने के लिए इसको विस्तारपूर्वक पढ़े।

Lata Mangeshkar Health

यदि लता मंगेशकर जी की हेल्थ के बार में बात करे तो हाल ही में इनको 08 जनवरी 2022 में सांस लेने की तकलीफ और कोरोना वायरस से संक्रमित होने के कारण हॉस्पिटल में एडमिट कराया गया था। और अब लता जी के सेहत में धीरे- धीरे सुधर आ रहा है। उनको वेंटिलेटर से हटा दिया गया है, परन्तु अभी वो आईसीयू में है। हम भगवान से यहीं दुआ करेंगे की वो जल्द से जल्द ठीक होकर अपने घर लोटे।

06 फरवरी 2022 Update: दोस्तों आज बेहद दुःखद समाचार है 92 साल की उम्र में लता जी का निधन हो गया है। लता जी ने 06 फरवरी 2022 रविवार की सुबह मुंबई के ब्रीच कैंडी अस्पताल में अंतिम सास ली। आज दोपहर 12 बजे से 03 बजे तक उनके पार्थिव शरीर को पेडर रोड पर स्थित उनके घर में रखा जाएगा। उसके बाद शाम 04:30 बजे लता मंगेशकर जी के पार्थिव शरीर को मुंबई के शिवजी पार्क ले जाया जाएगा और उनको अंतिम विदाई दी जाएगी। उनका अंतिम संस्कार पूरे राजकीय सम्मान के साथ किया जाएगा और हमारे देश के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी भी उनको श्रद्धाजलि देने पहुंचेंगे।

लता मंगेशकर से जुड़े विवाद

वैसे तो लता जी का जीवन साधारण और सीधा नजर आता है। लेकिन समय के साथ- साथ इनके जीवन से भी कुछ विवाद जुड़े है। जिनकी जानकारी इस प्रकार है:

मोहम्मद रफ़ी के साथ रॉयल्टी विवाद: लता मंगेशकर और मोहम्मद रफी के बीच रॉयल्टी के मुद्दे पर मतभेद हो गए, क्योंकि लता संगीत एलबम में हिस्सा लेना चाहती थीं, जबकि रफी वेतन के लिए गीत गाते थे।

एस. डी. बर्मन के साथ विवाद: एक बार लता मंगेशकर और एस. डी. बर्मन के बीच मतभेद उत्पन्न हुए, और उन्होंने 7 वर्ष तक एक-दूसरे के साथ काम करने से इनकार कर दिया।

बहन आशा भोसले से विवाद: पिता की मृत्यु के बाद परिवार की जिम्मेदारी लता मंगेशकर पर आ गयी। लता जी को उम्मीद थी की उनकी छोटी बहन आशा भोंसले भी कुछ मदद करेगी, लेकिन ऐसा कुछ नहीं हुआ। दूसरी और 16 वर्ष की आयु में आशा भोंसले द्वारा गणपतराव भोंसले से कर लो जो उनसे उम्र में दोगुने थे और उस वक्त गणपतराव लता जी के सेक्टरी थे। इस वजह से लता जी अपनी बहन आशा भोंसले से नाराज हो गयी और दोनों बहनों के बीच दूरियां बढ़ गयी। परन्तु समय के साथ-साथ अब दोनों बहनों में अच्छी बनती है।

FAQs – Lata Mangeshkar Biography in Hindi

प्रश्न: लता मंगेशकर नेटवर्थ/ कुल सम्पति कितनी हैं?

उत्तर: एक रिपोर्ट के मुताबिक लता मंगेशकर की नेटवर्थ (लगभग) 50 मिलियन डॉलर है। इसको यदि भारतीय रुपयों में देखा जाये तो इनकी कीमत लगभग 368 करोड़ रुपये होती हैं।

प्रश्न: लता मंगेशकर ने शादी क्यों नहीं की?

उत्तर: लता जी पर छोटी उम्र में जिम्मेदारियां आने के कारण दुनियादारी में इतनी उलझ गयी कि उन्होनें कभी शादी के बारें में नहीं सोचा। इस वजह से इन्होंने शादी नहीं की।

प्रश्न: लता मंगेशकर ने आखिरी गाना किस फिल्म में और कब गाया?

उत्तर: लता मंगेशकर ने आखिरी बार गाना वीर ज़ारा फिल्म वर्ष 2004 में गाया था। इसके बाद इन्होंने गाने से सन्यास ले लिया था।

प्रश्न: लता मंगेशकर के पास कौन-कौन सी कारें हैं?

उत्तर: लता मंगेशकर कार कलेक्शन: वैसे तो लता जी की लाइफस्टाइल साधारण ही रहा है लेकिन उनका कार कलेक्शन काफी अच्छा है। उनके कार कलेक्शन में शेवरले, ब्यूक और एक क्रिसलर गाड़ी शामिल है। इसके अलावा लता मंगेशकर को फिल्म निर्माता यश चोपड़ा ने ‘वीर ज़ारा’ फिल्म के गाने के रिलीज होने के बाद एक मर्सिडीज कार भी गिफ्ट की थी।

प्रश्न: लता मंगेशकर कहाँ रहती हैं?

उत्तर: वैसे तो लता जी के पास कई घर हैं लेकिन अभी वो मुंबई शहर में रहती है। इनका घर दक्षिण मुंबई के पेडर रोड पर है और लता के इस घर का नाम प्रभु कुंज भवन रखा गया है।

Thanks for reading the information about to Lata Mangeshkar Biography in Hindi.

2 thoughts on “[लता मंगेशकर] Lata Mangeshkar Biography in Hindi: आयु ,परिवार, नेटवर्थ, जीवन परिचय”

  1. क्या प्रसिद्धि को लेकर लता मंगेशकर एवं आशा भोसले में कोई और भी विवाद था..? अपने घर के सामने मुम्बई मेट्रो पुल के निर्माण के समय लता जी ने अपने घर को बचाने मेट्रो निर्माण के कार्य को रुकवा दिया था..?

    Reply

Leave a Comment