Sanjhipt Parichay
Prasasnik Dancha
Labharti
main
main
main
main
main
main
main
main
main
main
main



1962 - कुछ राज्यों द्वारा मिड-डे-मील कार्यक्रम शुरू किया गया ।

1970 - विशेष पोषण कार्यक्रम प्रारम्भ हुआ मूल रूप से ग्रामीण, पिछडे एवं छोटे शहरी इलाकों के छोटे शिशुओं, गर्भवती महिलाओं एवं धात्री माताओं को सहायक पोषण प्रदान कर इस कार्यक्रम की सीमाओं को विस्तृत किया गया ।

1974 - मिड-डे-मील कार्यक्रम न्यूनतम आवश्यकता का हिस्सा बना ।

1975 - आई सी डी एस भारत सरकार द्वारा 2 अक्टूबर 1975 को छोटे रूप में प्रारम्भ किया गया जो कि उत्तर प्रदेश की तीन परियोजनाओं सहित केवल 33 ब्लाक समाहित करता था ।

1990- वर्ल्ड बैंक से 106 मिलियन यू एस डालर की स्वीकृति प्रदान कर आई सी डी एस-1 प्रोजेक्ट के लिये कार्यक्रम में सम्मिलित हुआ जो कि आन्ध्र प्रदेश एवं उडीसा को समाहित कर रहा था ।

1993 - वर्ल्ड बैंक ने उद्देश्य परिवर्तित किये बिना प्रत्येक प्रदेश की आवश्यकता के अनुरूप लक्ष्य परिवर्तित करके अपनी भूमिका ऒर 194 मिलियन यू एस डालर का निवेश करने के साथ साथ मध्य प्रदेश एवं बिहार को भी शामिल किया ।

1995- कार्यक्रम में 3663 ब्लाक शामिल थे और वह 3.8 मिलियन ज़रूरतमन्दों एवं धात्री माताओं की पहुँच में था ।

1997 - वर्ल्ड बैंक ने प्रदेश मे कार्यरत आई सी डी एस के तीन कार्यक्रम मे सहायता प्रदान की ।

1999 - प्रदेश में किशोरी शक्ति योजना प्रारम्भ हुई ।

2009 - प्रधानमन्त्री ग्रामोदय योजना एवं 187 नए बाल विकास कार्यक्रम प्रारम्भ हुए तथा प्रदेश की कुल प्रोजेक्टो की संख्या 895 पहुँच गयी ।

2002 - प्रदेश मे राष्ट्रीय पोषाहार मिशन प्रारम्भ हुआ ।

2003-21 अन्य नए बाल विकास कार्यक्रम प्रारम्भ हुए तथा 106111 आँगनबाड़ी कॆन्द्र के साथ साथ प्रदेश के प्रोजेक्टों की संख्या 835 पहुंच गयी ।

2004- आँगनबाड़ी कार्यकर्ती एवं सहायिका के मानदेय में क्रमशः रू 200 एवं रू 100 की वृद्धि हो गयी ।

2005 - 32188 नए आँगनबाड़ी कॆन्द्र प्रदेश में बने जिससे कुल आँगनबाड़ी कॆन्द्रो की संख्या 138299 हो गयी ।

2006 -07 में 13170 नये आंगनबाड़ी केन्द्रों की स्वीकृति भारत सरकार से प्राप्त हुई. इस प्रकार कुल स्वीकृति आंगनबाड़ी केन्द्रो की संख्या 151469 हैं.

इस प्रकार 151469 आंगनबाड़ी केन्द्रों के अतिरिक्त वित्तीय वर्ष 2008-09 में 14604 अतिरिक्त नये आंगनबाड़ी केन्द्र तथा 22166 नये मिनी आंगनबाड़ी केन्द्रों की स्वीकृति भारत सरकार से प्राप्त हुई हैं. इस प्रकार वर्तमान में भारत सरकार से कुल स्वीकृति आंगनबाड़ी केन्द्रों की संख्या 166073 तथा मिनी आंगनबाड़ी केन्द्रों की संख्या 22186 है


Copyright © 2006 | All Rights Reserved